नवनियुक्त शिक्षक EPF खाता संख्या UAN Number कैसे प्राप्त करें

नवनियुक्त शिक्षक Epf खाता संख्या Uan Number कैसे प्राप्त करें
Share This Post

नवनियुक्त शिक्षक EPF खाता संख्या UAN Number कैसे प्राप्त करें

नवनियुक्त शिक्षकों को शिक्षा विभाग की ओर से सैलरी उसके बैंक खाते में दी जाती है। बहुत सारे नवनियुक्त शिक्षक ऐसे हैं जिनके पास पहले से बैंक अकाउंट है। लेकिन यह आपको जानकारी होना चाहिए कि शिक्षकों को सैलरी किसी भी बैंक अकाउंट में नहीं, बल्कि एसबीआई बैंक के अकाउंट में ही दिया जाता है। यानी नवनियुक्त शिक्षक अगर एसबीआई की किसी भी शाखा में अपना खाता नहीं रखते हैं तो उसे यथाशीघ्र अपना खाता किसी भी एसबीआई ब्रांच में ही खुलवाना होगा। प्रारंभ में उसे बचत खाता ही खुलवाना है इसी बैंक खाते में उसका वेतन आएगा।
नियोजित शिक्षकों को मूल वेतन के अलावा बहुत सारे इंक्रीमेंट और भत्ते दिए जाते हैं और उनके वेतन से कुछ कटौती भी की जाती है। समान रूप से यह कटौती ईपीएफ (EPF) की कटौती है। नवनियुक्त शिक्षकों के लिए ईपीएफ एक नया शब्द है लेकिन हर शिक्षकों को इसकी जानकारी होनी चाहिए। इपीएफ खाता सेविंग खाता Saving Account से अलग होता है। सेविंग खाते का खाता संख्या ईपीएफ खाते के खाते संख्या से अलग होता है। नवनियुक्त शिक्षक अपने सामान्य बचत बैंक खाते को ईपीएफ खाते में रूपांतरित करवाएंगे तभी उसे इपीएफ खाता संख्या मिलता है इसे यूएएन नंबर UAN कहते हैं

See also  माध्यमिक और उच्च माध्यमिक शिक्षकों का होगा स्थानांतरण

UAN – PF / EPF / EPFO का अर्थ 

यूनिवर्सल अकाउंट नंबर (UAN) 12 अंकों का एक नम्बर है जो EPFO के प्रत्येक सदस्य को प्रदान किया जाता है जसके माध्यम से वह अपने सभी PF खातों को मैनेज कर सकता है। इससे आप सभी प्रोविडेंट फंड (PF) की जानकारी एक ही स्थान पर प्राप्त कर सकते हैं।PF की फुल फॉर्म की बात करें तो PF की फुल फॉर्म ‘प्रोविडेंट फण्ड’ (Provident fund) होती है। इसके अलावा PF को EPF के नाम से भी जाना जाता है। जिसमे EPF की फुल फॉर्म ‘एम्प्लोयी प्रोविडेंट फण्ड’ (Employee provident fund) होती है। इसे ही EPFO इसका फुल फॉर्म ‘एम्प्लोयी प्रोविडेंट फण्ड ओर्ग्नैजेशन ‘ (Employee provident fund Orgnization) होता है। हिंदी में इसे कर्मचारी भविष्य निधि संगठन कहते हैं। 

See also  Download BPSC प्रधान अध्यापक परीक्षा Official Answer Key

कैसे प्राप्त करें UAN Number

यह काम कोई मुश्किल नहीं है बल्कि बहुत ही आसान है मात्र छोटे से Process से ही यह काम संपन्न हो जाता है। लेकिन इसके लिए विभागीय आदेश की आवश्यकता होती है।  क्योंकि एक प्रपत्र बैंक में जमा करना होता है जिसे मास्टर डाटा फॉर्म कहते हैं।और इसी मास्टर डाटा फॉर्म की एक प्रति प्रखंड संसाधन केंद्र बीआरसी में जमा किया जाता है।  ओवरऑल यह जाने कि यह प्रक्रिया केवल विभागीय आदेश के अधीन है। विभागीय आदेश मिलते ही यथाशीघ्र आपका बचत खाता ईपीएफ खाते में बदल जाएगा। इपीएफ खाता संख्या आपके लिए सेविंग अकाउंट नंबर की तरह ही इंपोर्टेंट है। यहां तक की अनुपस्थिति विवरणी और बहुत जगह आपके यूएएन नंबर मांगे जाते हैं यूएन नंबर को बचत खाते की जगह नहीं लिख सकते ना बचत खाता संख्या को यूएन नंबर की जगह लिख सकते हैं दोनों का अपना-अपना इंपोर्टेंस है।
 

Join For Quick Update


Youtube


Telegram


Facebook


Twitter


Instagram

See also  नियोजित शिक्षकों के स्थानांतरण का रास्ता साफ़ | Niyojit Teacher Transfer News


Share This Post