अधिगम का अर्थ, सीखने की परिभाषा और विशेषताएँ – TET/CTET Hindi Pedagogy

अधिगम का अर्थ, सीखने की परिभाषा और विशेषताएँ Tetctet Hindi Pedagogy
Share This Post

Teacher RahmatTelegram GroupWhatsapp Group

अधिगम का अर्थ, सीखने की परिभाषा और विशेषताएँ

TET/CTET Hindi Pedagogy: CTET में Hindi Language के 30 प्रश्न पूछे जाते हैं। जिनमें 15 प्रश्न Pedagogy (शिक्षण विधि) से होते हैं। और शेष 15 प्रश्न हिंदी विषय के अपठित गद्यांश / पद्यांश से होते हैं। हिंदी का शिक्षणशास्त्र हिंदी शिक्षण से सम्बंधित प्रश्न रखते हैं। एक-एक Topic पर चर्चा करते हुए हम हिंदी Pedagogy का संपूर्ण Syllabus पूरा करेंगे। Subscribe Teacher Rahmat

Smart YouTube Videos | Topicwise PDF Notes | Chapterwise MCQ | Question Bank Solution | Regular Quiz | Online Mock Test

अधिगम का अर्थ

अधिगम का अर्थ: अधिगम को सीखना भी कहते हैं। शिक्षा मनोविज्ञान में सीखना एक अति महत्त्वपर्ण विषय है। अत: मनोवैज्ञानिकों ने सीखने को वैज्ञानिक ढंग से परिभाषित करने की कोशिश की है। सामान्य अर्थ में सीखना व्यवहार में परिवर्तन को कहा जाता है। भले ही सीखने की प्रक्रिया जीवन भर चलती रहती है। जन्म के साथ ही सीखने की शुरुआत हो जाती है। और कहा भी जाता है की माँ का गोद बच्चे का पहला विद्यालय होता है यानी माँ के गोद से ही बच्चा सीखना शुरू कर देता है। परन्तु सभी तरह के व्यवहार म परिवर्तन को सीखना नहीं कहा जा सकता। मनोविज्ञान में सीखने से तात्पर्य सिर्फ उन्हीं परिवर्तनों से होता है, जो अभ्यास या अनुभव के फलस्वरूप होता है तथा जिसका उद्देश्य बालक को समायोजन में मदद करना होता है। Subscribe Teacher Rahmat

See also  भाषा अवबोध, अपठित गद्यांश - अभ्यास 1 | TET/CTET Hindi Passage/Poem

सीखने की परिभाषाएँ

मनोवैज्ञानिकों ने सीखने की वैज्ञानिक परिभाषा दी हैं। कुछ खास मनोवैज्ञानिको के नाम और उनकी परिभाषाएँ काफी प्रचलित है। परीक्षा में अक्सर उनसे प्रश्न पूछे जाते हैं।

  •  रिली तथा लेविस के अनुसार, “अभ्यास या अनुभूति से व्यवहार में धारण योग्य परिवर्तन को सीखना कहा जाता है।“Subscribe Teacher Rahmat
  • थार्नडाइक के अनुसार, “उपयुक्त अनुक्रिया के चयन तथा उसे उत्तेजना से जोड़ने को अधिगम कहते हैं।“
  • स्किनर के अनुसार, “सीखना, व्यवहार में उत्तरोत्तर सामंजस्य की प्रक्रिया है।”
  • वुडवर्थ के अनुसार, “नवीन ज्ञान और नवीन प्रतिक्रियाओं को प्राप्त करने की प्रक्रिया सीखने की प्रक्रिया है।”
  •  क्रो व क्रो के अनुसार, “सीखना-आदतों, ज्ञान और अभिवृत्तियों का अर्जन है।”Subscribe Teacher Rahmat
See also  TeacherRahmat Best Supporter Award

सीखने की विशेषताएँ

सीखने की विभिन्न परिभाषाओं के आधार पर योकम और सिम्पसन ने सीखने की कुछ निम्नलिखित सामान्य विशेषताओं का  वर्णन किया है।

  1. सीखना सार्वभौमिक है।
  2. सीखना सम्पूर्ण जीवन चलता है।
  3. सीखना विकास है।
  4. सीखना परिवर्तन है।
  5. सीखना अनुकूलन है।
  6. सीखना, अनुभवों का संगठन है।
  7. सीखना विवेकपूर्ण है।
  8. सीखना सक्रिय है।
  9. सीखना वातावरण की उपज है।
  10. सीखना खोज करना है। Subscribe Teacher Rahmat

सीखने से संबंधित शेष संपूर्ण जानकारी विस्तार से जानने के लिए विडियो को अंत तक देखें

Browse more videos Teacher Rahmat on


Share This Post