EPF की विशेषता और शिक्षकों की आवश्यकता

Gffgfg
Share This Post

Teacher RahmatTelegram GroupWhatsapp Group

Welcome Back! मैं Md Rahmatullah अपने इस वेबसाइट www.teacherrahmat.com पर शिक्षक और शिक्षा से संबंधित सभी सूचनाओं के साथ-साथ बोर्ड और प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कराते हैं। Departmental Letter, Regular Test Series और PDF Notes सहित सम्पूर्ण Study Material भी उपलब्ध कराते हैं। हमारी इस वेबसाइट पर आ रहे Notification को Allow करें। साथ ही साथ आप हमारे चैनल को भी Subscribe करें। ताकि हमारा हर अपडेट आप तक सबसे पहले पहुंच सकें।Subscribe Teacher Rahmat

EPF की विशेषता और नवनियुक्त शिक्षकों की आवश्यकता

दोस्तों इस दुनिया में किसे पैसे की आवश्यकता नहीं है। और सही पूछा जाए तो पैसे की महत्व उस वक्त कहीं और बढ़ जाता है जब आपके पास पैसा ना हो। उदाहरण स्वरूप आपका रिटायरमेंट हो चुका हो, आप बेरोजगार हो चुके हो। आपके घर में शादी हो या आपके परिवार के कोई सदस्य बीमार हो आदि।
आमतौर पर गांव समाज में लोग अपने बेहतर भविष्य के लिए कुछ पैसे बचाते हैं और यह पैसे वें सामान्य तौर पर गुल्लक में एकत्रित करते हैं। जो एक असुरक्षित तरीका है। भारत सरकार ने भविष्य के लिए पैसों को संरक्षित करने का एक सुरक्षित तरीका बनाया है। वह है भविष्य निधि
भविष्य निधि के माध्यम से कोई भी व्यक्ति भविष्य के लिए पैसे एकत्रित कर सकता है और आवश्यकता पड़ने पर उसका इस्तेमाल कर सकता है। भविष्य निधि को Provident Fund या PF कहते हैं। Subscribe Teacher Rahmat

See also  How to Activate UAN, अपना EPF Detail UAN से कैसे प्राप्त करें

Provident Fund या PF दो प्रकार के होते है

  1. कर्मचारी भविष्य निधि / Employees’ Provident Fund (EPF)
  2. पब्लिक भविष्य निधि / Public Provident Fund (PPF)

EPF उनके लिए है जो कर्मचारी हैं। सरकारी कर्मचारी के लिए इपीएफ होता है। वही आम लोगों के लिए जो गैर सरकारी कर्मचारी हैं या बिजनेसमैन है उनके लिए पीपीएफ PPF होता है। इसका अर्थ होता है गैर सरकारी भविष्य निधि। आज हम केवल EPF पर ही चर्चा करेंगे और इन्हीं की सारी विशेषताएँ आपको बताएंगे। साथ ही साथ खासतौर से हमें यह बताएंगे कि नवनियुक्त शिक्षकों को इनकी कितनी आवश्यकता है

Quick

See also  DA Increment, वेतन में आएगा भारी उछाल

नवनियुक्त शिक्षकों के लिए कर्मचारी भविष्य निधि EPF पूर्णतः अनिवार्य है। यह एच्छिक नहीं है इसीलिए हर किसी को इपीएफ अकाउंट खुलवाना है। राज्य के किसी भी कंपनी के कर्मचारी जहां कर्मियों की संख्या 20 से अधिक हो वहां इपीएफ अकाउंट खुलवाना अनिवार्य होता है। नवनियुक्त शिक्षकों की संख्या हजारों में है। और यह सब के सब नियोजित शिक्षक हैं जिनकी संख्या लाखों में है यानी EPF Account कोई अनदेखा नहीं कर सकता। कर्मचारी भविष्य निधि (EPF) एक रिटायर्मेंट प्लान है जिसे कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO) मैनेज करता है। ईपीएफ योजना में कर्मचारी और उसका नियोक्ता/ कंपनी हर महीने बराबर राशि का योगदान करते हैं जो मूल वेतन और महंगाई भत्ते का 12% होता है। कंपनी के योगदान का 8.33% हिस्सा कर्मचारी पेंशन योजना (EPS) के लिए जाता है। वर्तमान में नवनियुक्त शिक्षकों के ईपीएफ की कटौती 1800/- रुपया प्रति माह है।Subscribe Teacher Rahmat

EPF अकाउंट की विशेषताएं

EPF अकाउंट की अन्य विशेषताएं भी है जिसे हर नवनियुक्त शिक्षकों को जानना आवश्यक है।

  1. सबके लिए अनिवार्य
  2. कम से कम 20 कर्मचारी वाले कंपनी में आवश्यक
  3. Basic Pay + DA का 12% कटौती
  4. 8 से 10 प्रतिशत तक ब्याज
  5. तिमाही ब्याज
  6. रिटायरमेंट तक कटौती और ब्याज उपलब्ध (Maturity)
  7. Partial Withdrawl Facility after 5 Year
  8. Debt Liability
  9. Tax Free
  10. One Person One Account
See also  Students Feedback

उम्मीद करता हूं कि यह जानकारी आपको आगे बहुत फायदा पहुंचाएगी। अगर उपरोक्त जानकारी आपको अच्छी लगी है तो आप इस पोस्ट को अधिक से अधिक शेयर करेंशेष संपूर्ण जानकारी विस्तार से जानने के लिए विडियो को अंत तक देखें

Browse more videos Click Here

You Also Read


Share This Post